धुरंधर लिख्खाड ब्लॉगिंग छोड ही नही सकता

कल से हिन्‍दी ब्‍लाग जगत में भूचाल आया है, क्‍योंकि धुरंधर लिख्खाड ललित शर्मा नें ब्लॉगिंग को अलविदा कहा है. ललित भाई के ब्लॉगर मित्र रूक रूक कर इस विषय को अंतर्राष्‍ट्रीय मुद्दा बनाने के लिए पोस्‍ट रूपी गोला बारूद छोड रहे हैं और सुना है कि प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह अपना विदेश दौरा रद्द कर वापस भारत आ रहे हैं कल इस मसले पर केबिनेट की मीटिंग में भाग लेने एवं ललित भाई नें ब्लॉगिंग को अलविदा क्‍यूं कहा इसके लिए एक जांच आयोग बिठाने की मांग विरोधी पक्षों नें की है जिस पर प्रधान मंत्री शीध्र ही निर्णय लेने वाले हैं. 

अब जो भी हो, अटकलों का बाजार मौसम के अनुसार गर्म है, ब्लॉगिंग पर मेरा अनुभव कहता है कि ललित भाई जैसे सक्रिय ब्लॉगर, ब्लॉगिंग हरगिज नहीं छोड सकते. हो सकता है वे वापस आयेंगें, या ललित शर्मा किसी और नाम से अवतरित होगें. पर किसने क्‍या कहा था से परे ललित शर्मा जी ब्लॉगजगत में बने रहेंगें . 

इधर विश्‍वस्‍थ सूत्रों का कहना है कि बराक ओबामा ललित भाई के इस निर्णय से बहुत खुश हैं क्‍योंकि पिछले दिनों फौज से रिटायर्ड (भगौडे नहीं)चौकीदारों की भरती के लिए किसी ब्लॉग में विज्ञापन प्रकाशित हुआ था उसके लिए संभवत: ललित भाई नें अपना रेज्‍यूम भेजा था जो किस्‍मत से बराक ओबामा के हांथ लग गया था और उन्‍होंनें ललित भाई को अपना विशेष सुरक्षा सलाहकार बनने का आफर दिया था पर ललित भाई हैं कि ब्लॉगिंग को अलविदा कह ही नहीं रहे थे. चौबीस घंटे में से अट्ठारह घंटे ब्लॉगिंग करते थे. ललित भाई के वर्तमान निर्णय से बराक ओबामा के बल्‍ले बल्‍ले हो रहे हैं. .

8 comments:

  1. बात तो सही है!
    हमने तो आने का भी स्वागत किया था
    और जाने पर भारी मन से विदा भी कर रहे हैं!
    इनके सम्मान में एक पोस्ट यहाँ भी है-
    http://uchcharandangal.blogspot.com/2010/04/blog-post_10.html

    ReplyDelete
  2. मैंने उनके सम्‍मान में नहीं अपितु गुस्‍से में एक पोस्‍ट लिखी है, उसे आप सभी पढ़े।

    ReplyDelete
  3. ऐसे व्यक्तित्व की ब्लॉग जगत से विदाई दुःखदाई है। आदरणीय ललित जी को अपने निर्णय पर पुनर्विचार करना चाहिए।

    ReplyDelete
  4. क्या ललित जी का ब्लोगिंग छोड़कर चौकीदारी करने चले गये?

    ReplyDelete
  5. suman ji 'nice' kyun 'very nice' kyun nahin

    ReplyDelete
  6. सुना है बराक ओबामा उनकी डयूटी अफगानिस्तान में लगाने जा रहे हैं :-)

    ReplyDelete
  7. ये अमेरिका कब तक अपनी दादागिरी पूरे विश्‍व पर चलाता रहेगा। अब हिन्‍दी ब्‍लॉगिंग पर भी ..... अमेरिका अमेरिका होश में आओ। बनाना है तो ललित शर्मा को अमेरिका का राष्‍ट्रपति बनाओ।

    ReplyDelete

.............

संगी-साथी

ब्‍लॉगर संगी