सर्च इंजन से 'मसाज', 'लाल किताब' और 'सेक्‍स' खोजते ब्‍लॉग पर आते हुए लोग

अंग्रेजी भाषा में टाप सर्च वर्ड जैसे ढेरों सुझाव नेट पर उपलब्‍ध हैं, ऐसे समय में जब वरिष्‍ठ ब्‍लॉगरों के द्वारा ब्‍लॉगिंग सम्‍मेलन बुलाए जाने के स्‍थानों की सूची बनाई जा रही है. हिन्‍दी में सेक्‍स और अश्‍लीलता से परे टाप सर्च वर्ड और क्‍या-क्‍या हैं इसकी सूची भी अब बननी चाहिए.

हमने अपने ब्‍लॉग आरंभ में आज अपनी मति अनुसार, बहुत खोज बीन कर, श्रम करके एक पोस्‍ट - कवि गोपाल मिश्र : हिन्‍दी काव्‍य परंपरा की दृष्टि से छत्‍तीसगढ़ के वाल्‍मीकि पब्लिश की है, सामान्‍य ब्‍लागरी उत्‍सुकता एवं किंचित समय की उपलब्‍धता के कारण हम उस पोस्‍ट में आ रहे ट्रैफिक को जानने के लिए फीडजिट पर नजरें गडाए बैठे रहे तो बहुत रोचक जानकारी हमें प्राप्‍त हुई.

ब्‍लागवाणी व चिट्ठाजगत से आ रहे पाठकों के अतिरिक्‍त, सर्च इंजनों से भी ट्रैफिक हमारे ब्‍लॉग में आ रही थी. जिस पोस्‍ट में सर्च इंजन के द्वारा ट्रैफिक आ रही थी वह पोस्‍ट थी 'मसाज पार्लर : जहां लड़कियां मसाज करती हैं.फीडजिट के दस परिणामों में से चार क्लिक इस पोस्‍ट के लिए थे यानी चालीस प्रतिशत ट्रैफिक 'मसाज' शव्‍द खोजते हुए हमारे ब्‍लॉग तक पहुच रहे हैं .... और हम नाहक ही दूसरे विषयों पर कलमघसीटी कर, चार-चार पेजों को सीमित समय के बावजूद टाईप कर, ब्‍लॉग में पब्लिश कर रहे हैं :)

बुद्धिजिवियों, बनवारीलालों, घीसूलालों जैसों की ब्‍लॉगप्रसिद्धि और टिप्‍पणियों के जूतमपैजारों के सुख से वंचित ना रहना पडे सोंचकर ही हमने इस ब्‍लॉग को बरकरार रखा है, हालांकि इसमें सर्च इंजन से कुत्‍ता भी मूतने नहीं आता, घुरूवा की औकात बनी रहे :)

आपके ब्‍लॉग पर सर्च इंजन के माध्‍यम से किस शव्‍द को खोजते हुए लोग आ रहे है .... हमें भी बतायें
Share on Google Plus

About Sanjeeva Tiwari

17 टिप्पणियाँ:

  1. गंदे लोग ब्लॉग्गिंग को भी खराब कर देंगे , आपकी चिंता वाजिब है

    ReplyDelete
  2. संजीव जी, हिन्दी शब्दों तथा वाक्यांशों को सर्चबॉक्स में टाइप करके लोगों ने सर्च शुरू कर दिया है यह भी एक उपलब्धि ही है। हमारे वाल्मीकि रामायण में बहुत से लोग "रामायण" खोजते हुए ही आते हैं।

    ReplyDelete
  3. आप भी गज़ब करते हैं :)

    ReplyDelete
  4. आप भी गज़ब करते हैं :)

    ReplyDelete
  5. मसाज यानी मालिश न.. यह काम मुफ्त में कौन करता है थोड़ा पता चले तो बताना। हा.. हा.. हा..
    पोस्ट अच्छी है।

    ReplyDelete
  6. ye lo
    @@@@@@@@@@

    log kya kya search karte he

    ReplyDelete
  7. लीजिये अब आप को ब्लॉग गुरु मन्त्र मिल गया !

    ReplyDelete
  8. हमारे ब्लॉग पर ६०% से ऊपर लोग गूगल पर हिंदी खोज परिणामों से ही आते है |

    ReplyDelete
  9. सही कह रहे हैं रतनसिंह जी, मैं आपके ब्‍लाग ज्ञानवाणी में उबंटू खोजते हुए पहुचा था. उपर के चित्र में दिये गये दसो क्लिक गूगल सर्च इंजन के द्वारा किए गए हैं.

    ReplyDelete
  10. @ क्षमा करें ज्ञान दर्पण

    ReplyDelete
  11. अपुन के ब्लॉग पर भी काफी लोग सर्च इंजन की मदद से आते हैं

    ReplyDelete
  12. मेरे ब्लॉग पर अधिकांश लोग "सस्ती शायरी", "ब्लू फ़िल्म", "सचिन तेंदुलकर" और "भाभी" ढूंढते हुए आते हैं.

    ReplyDelete
  13. हा हा
    मेरे इतने ब्लॉग हैं और महीने में सैकड़ों पोस्ट आ जाती हैं। उन पर लोग क्या ढ़ूँढ़ते आते हैं लिख दूँ तो सारा ब्लॉग जगत नाक-भौं सिकोड़ने लगे।
    मुझे खुद हैरानी होती है

    ReplyDelete
  14. bich bich me ye traffic key words pe nazar dalna bahut jaruri hai

    ReplyDelete
  15. सच कह रहे हैं संजीव भाई ,

    इसी तरह मैंने भी कुछ प्रयासों में पाया कि हिंदी में विष्यों के सर्च में और उसके द्वारा पाठकों के पहुंचने में कुछ शब्द जैसे ..ज्योतिष , एलोवेरा आदि भी हैं जिनकी सबसे ज्यादा तलाश की जाती है ।

    ReplyDelete
  16. पुत्र
    तू समझदार होकर भी सर्च इंजन के फ़ेर मे क्यो पडा है
    तू कर्म करता चल
    पापा जी

    ReplyDelete

.............

संगी-साथी